Album Sohni Mahiwal
Artist Mahendra Kapoor
Year 1958
Genre Un-Categorized

Loading…

Husn Chala Hai, Ishq Se Milane Lyrics | Mahendra Kapoor

Chaand chhupa aur taare doobe, raat ghazab ki aai
Husn chalaa hai, ishq se milane, zulm ki badali chhaai

Toot padi hai aandhi gham ki, aaj pavan hai paagal-2
Kaanp rahi hai dharati saari, cheekh rahe hain baadal-2
Duniyaa ke toofaan hazaaron, husn ki ik tanahaai
Husn chalaa hai.....

Maut ki naagan aaj khadi hai, raah men phan phailaaye
Jangal-jangal naach rahe hain, shaitaanon ke saae-2
Aaj khuda khaamosh hai jaise, bhul gaya ho khudaai
Husn chalaa hai.....

Ghor andhera mushkil raahen, kadam-kadam pe dhokhe-2
Aaj mohabbat ruk na sakegi, chaahe khuda bhi roke-2
Raah-e-vafa men pichhe hatana, pyaar ki hai rusvaai
Husn chalaa hai.....

Paar nadi ke yaar ka dera,-2 aaj milan hai tera
Odh le tu leharon ki chunari, baandh le mauj ka sehara-2
Dole men manjhadhaar ke hogi, teri aaj vidaai
Husn chalaa hai.....

Doob ke in unchi leharon men, naiyya paar laga le
Ulfat ke toofaan men zinda, rahate hain marane vaale-2
Jite-ji sansaar men kisane, pyaar ki manzil paai
Husn chalaa hai.....

Tere dil ke khun se hoga, laal chanaab ka paani
Duniya ki taarikh men likhi jaayegi, yeh qurbaani
Sohani aur mahivaal ne apani, ishq men jaan ganvaai..
Ishq men jaan ganvaai..
=======================================
चाँद छुपा और तारे डूबे, रात ग़ज़ब की आई
हुस्न चला है, इश्क़ से मिलने, ज़ुल्म की बदली छाई

टूट पड़ी है आँधी ग़म की, आज पवन है पागल-२
काँप रही है धरती सारी, चीख रहे हैं बादल-२
दुनिया के तूफ़ान हज़ारों, हुस्न की इक तनहाई
हुस्न चला है.....

Loading…




मौत की नागन आज खड़ी है, राह में फन फैलाये
जँगल-जँगल नाच रहे हैं, शैतानों के साए-२
आज ख़ुदा खामोश है जैसे, भूल गया हो ख़ुदाई
हुस्न चला है.....

घोर अँधेरा मुश्किल राहें, कदम-कदम पे धोखे-२
आज मोहब्बत रुक न सकेगी, चाहे ख़ुदा भी रोके-२
राह-ए-वफ़ा में पीछे हटना, प्यार की है रुस्वाई
हुस्न चला है.....

पार नदी के यार का डेरा,-२ आज मिलन है तेरा
ओढ़ ले तू लेहरों की चुनरी, बाँध ले मौज का सेहरा-२
डोले में मँझधार के होगी, तेरी आज विदाई
हुस्न चला है.....

डूब के इन ऊँची लेहरों में, नैय्या पार लगा ले
उल्फ़त के तूफ़ान में ज़िन्दा, रहते हैं मरने वाले-२
जीते-जी संसार में किसने, प्यार की मंज़िल पाई
हुस्न चला है.....

तेरे दिल के खून से होगा, लाल चनाब का पानी
दुनिया की तारीख में लिखी जायेगी, येह क़ुर्बानी
सोहनी और महिवाल ने अपनी, इश्क़ में जान गँवाई..
इश्क़ में जान गँवाई..

[submitted on 26-apr-08]


If you notice any mistake in lyrics of Husn Chala Hai, Ishq Se Milane song, please let us know in comments.

1000

Loading…

Popular Songs

Loading…

About FilmyDOG

Filmydog.com is the latest Song lyrics website, for all the Indian song lovers. Read & feel the best lyrics reading experience, with the best songs in India ❤️