Album Ansh
Artist Kavita Subramaniam
Year 2002
Genre Happy

Loading…

Karati Hun Main Pyaar Sirf Lyrics | Kavita Subramaniam

Chori chori vo mere paas aayaa
Khidaki ke neeche se mujhako bulaayaa
Kahane lagaa chal mere saath raani
Maine koi baat usaki
Na maani
Phir usane puchhaa hafte kaa kyaa "program"
Hain milake bitaayenge kab ek shaam
To main ne kahaa

Haan karati hun main to pyaar sirf
"sunday" ko-2
Tum karanaa meraa intazaar sirf
"sunday"
Ko

"monday" ko mujhe badaa kaam hai
Ik pal bhi naa aaraam hai
Mangal budh ko main kyaa kahun
Mushkil padi gulafaam hai
Jummeraat jummaa phir baazaar jaaun
Shanivaar ko ghar main der se aaun
Der se aaun baabaa der se aaun kyun ke
Karati hun main ikaraar sirf
"sunday" ko
Tum karanaa meraa.....

Aise yahaan roz milane men to mujhako mazaa nahin aae
Ho jaae naa badanaami kahin meraa to jee ghabaraaye-2
Maanaa ke tu bekhyaal hai
Teraa deewaanon saa haal hai
Tere mere daramiyaan
Rahane den kuchh din ki dooriyaan
Ye bebasi meri jaan le, kyun ke
Karati hun main deedaar sirf " sunday " ko
Tum karanaa meraa ....

Logon ki aankhon se solah baras, maine sambhaali javaani
Kar dungi usake havaale jo hogaa meraa dilajaani-2
Laaegaa dolaa baaraat vo
Le jaaegaa mujhako saath vo

Loading…



Maanungi naa teri baat main
Haathon men dungi naa haath main
Jaa re jaa kahaa meraa maan le, kyun ke
Karati hun aankhen chaar haan sirf "sunday"
Ko
Tum karanaa meraa .....
"monday" ko mujhe badaa kaam hai
Ik pal bhi naa aaraam hai
Mangal budh ko main kyaa kahun
Mushkil padi gulafaam hai
Jummeraat jummaa phir baazaar jaaun
Shanivaar ko ghar main der se aaun
Der se aaun baabaa der se aaun kyun ke
Karati hun main ikaraar sirf
"sunday" ko
Tum karanaa meraa.....
========================================
चोरी चोरी वो मेरे पास आया
खिड़की के नीचे से मुझको बुलाया
कहने लगा चल मेरे साथ रानी
मैने कोई बात उसकी
न मानी
फिर उसने पूछा हफ़्ते का क्या "prograam"
हैं मिलके बितायेंगे कब एक शाम
तो मैं ने कहा

हाँ करती हूँ मैं तो प्यार सिर्फ़
"sunday"
को-२
तुम करना मेरा इंतज़ार सिर्फ़
'sunday"
को

"monday" को मुझे बड़ा काम है
इक पल भी ना आराम है
मंगल बुध को मैं क्या कहूँ
मुश्किल पडी गुलफ़ाम है
जुम्मेरात जुम्मा फिर बाज़ार जाऊँ
शनिवार को घर मैं देर से आऊँ
देर से आऊँ बाबा देर से आऊँ क्यूँ के

Loading…



करती हूँ मैं इकरार सिर्फ़
"sunday"
को
तुम करना मेरा.....

ऐसे यहाँ रोज़ मिलने में तो मुझको मज़ा नहीं आए
हो जाए ना बदनामी कहीं मेरा तो जी घबराये-२
माना के तू बेख्याल है
तेरा दीवानों सा हाल है
तेरे मेरे दरमियां
रहने दें कुछ दिन की दूरियां
ये बेबसी मेरी जान ले, क्यूँ के
करती हूँ मैं दीदार सिर्फ़
"sunday"
को
तुम करना मेरा ....

लोगों की आँखों से सोलह बरस, मैने संभाली जवानी
कर दूंगी उसके हवाले जो होगा मेरा दिलजानी-२
लाएगा डोला बारात वो
ले जाएगा मुझको साथ वो
मानूंगी ना तेरी बात मैं
हाथों में दूंगी ना हाथ मैं
जा रे जा कहा मेरा मान ले, क्यूँ के
करती हूँ आँखें चार हाँ सिर्फ़
"sunday"
को
तुम करना मेरा इंतज़ार सिर्फ़
'sunday"
को
"monday" को मुझे बड़ा काम है
इक पल भी ना आराम है
मंगल बुध को मैं क्या कहूँ
मुश्किल बड़ी गुलफ़ाम है
जुम्मेरात जुम्मा फिर बाज़ार जाऊँ
शनिवार को घर मैं देर से आऊँ
देर से आऊँ बाबा देर से आऊँ क्यूँ के
करती हूँ मैं इकरार सिर्फ़
"sunday"
को

Loading…



तुम करना मेरा.....

[submitted on 12-mar-2008]


If you notice any mistake in lyrics of Karati Hun Main Pyaar Sirf song, please let us know in comments.

1000

Loading…

Popular Songs

Loading…

About FilmyDOG

Filmydog.com is the latest Song lyrics website, for all the Indian song lovers. Read & feel the best lyrics reading experience, with the best songs in India ❤️